Sunday, Jan 20, 2019

फरार आरोपित के घर हुई कुर्की की कार्रवाई

अपनी कोचिंग में पढ़ने वाली शिष्या को बहला-फुसलाकर अगवा करने वाले कलयुगी गुरु की गिरफ्तारी न होने की दशा में सोमवार को पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर उसके घर में कुर्की की कार्रवाई की। इस दौरान घर में मौजूद सभी चल सम्पत्ति को जब्त कर लिया गया और थाने के मालखाने में लाकर रख दिया गया। करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के एक गांव निवासी मंजूर अंसारी एक प्राइवेट स्कूल में शिक्षक के रूप में कार्यरत था। यही नहीं वह अपना खुद का कोचिंग सेंटर भी चलाता था। उसकी कोचिंग में उसके स्कूल की ही एक छात्रा भी पढ़ती थी। बीते चार नवम्बर 2016 छात्रा के परिजनों ने थाने में आकर सूचना दी कि कोचिंग संचालक उनकी पुत्री को बहला-फुसलाकर अगवा कर लिया है। पुलिस ने इस मामले में मंजूर के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया था। काफी छापेमारी के बाद भी मंजूर नहीं गिरफ्तार हुआ तो पुलिस ने कुर्की के लिए कोर्ट में प्रार्थनापत्र दाखिल किया। फरवरी माह में कोर्ट ने कुर्की की नोटिस चस्पा करने का आदेश दे दिया था। पुलिस ने कार्रवाई के तहत फरार आरोपित के घर के दरवाजे पर कुर्की की नोटिस चस्पा करने के साथ ही गांव में मुनादी भी कराई। बावजूद इसके आरोपित ने सरेंडर नहीं किया। ऐसी स्थिति में कोर्ट से कुर्की का आदेश लेते हुए पुलिस ने सोमवार को उसके घर में मौजूद सभी चल सम्पत्ति को जब्त कर लिया। कार्रवाई के दौरान गांव के काफी लोग मौके पर मौजूद रहे। जब्त किये गये सामानों को पुलिस ने मालवाहक वाहन में लादकर उसे थाने में लाया। एसओ विकास पाण्डेय ने बताया कि यह कार्रवाई कोर्ट के आदेश पर की गई है।

Add new comment

Image CAPTCHA